Feedback

Rating 

Average rating based on 2304 reviews.

Suggestion Box

Name:
E-mail:
Phone:
Suggestion:
वीणा
MRP ₹3010

शताब्दि की ओर अग्रसर 95 साल से प्रकाशित होने वाली मासिक साहित्यिक पत्रिका के इस अंक में पढ़ें- 1. पूस की रात में अपना कफन ओढ़कर सोया हुआ समाज 2. केरोजीवी कविता और प्रेम का संदर्भ 3. भारतीय भाषाओं में अंतर-संवाद 4. प््रवासी भारतीय भारतीय हिंदी काव्य विमर्श 5. ज्मींदारी प्रथाः उपन्यास ‘प्रेमाश्रम’ 6. डर, उम्मीद और लालच 7. भारत के केंद्र में मातृभाषा पचेली 8. टाना भगत तिरंगा की पूजा करते हैं। 9. व्यंग्य रचना-पानी डरा रहा है। 10. कहानियां-पेड़, बीज और रंगीन पतंगें, नर्मदा की पाठशाला 11. लघुकथाएं, गीत, कविताएं, गजलें और दोहे