Feedback

Rating 

Average rating based on 2286 reviews.

Suggestion Box

Name:
E-mail:
Phone:
Suggestion:
लमही
MRP ₹10020

साहित्य की वैचारिक पत्रिका के इस अंक में पढ़ें इस अंक के विशिष्ट लेखक राजाराम भादू, डा.मृत्युंजय सिंह, हीरालाल नागर, उषा वैरागकर आठले, आशुतोष कुमार, शशिभूषण मिश्र, कुमार वीरेंद्र, वंदान चौबे, डा. सिद्धार्थ शंकर राय, ब्रजेश, अरुणाभ सौरभ, अंकिता तिवारी, कुमार मंगलम, नीरज अनिकेत, जनार्दन, शीतांशु, दूधनाथ सिंह, राजेंद्र कुमार, शंभुनाथ सांस्कृतिक संयुक्त मोर्चे का सवाल —— साहित्य में संयुक्त मोर्चे का प्रश्न और अमृत राय ——साहित्य में संयुक्त मोर्चा की अनिवार्यता ———आलोचना—आत्मालोचना की जरूरत बकौल अमृतराय ——— सांस्कृतिक संयुक्त मोर्चे की जरूरत